English Version

आपका स्वागत है

सी.एस.आई.आर.-भारतीय विषविज्ञान अनुसंधान संस्थान (सी.एस.आई.आर.-आई.आई.टी.आर.), लखनऊ की स्थापना 1965 में हुई जो कि वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद् की संघटक प्रयोगशाला है। इसका "शहर परिसर" महात्मा गाँधी मार्ग और "घेरू परिसर" लखनऊ-कानपुर राजमार्ग पर 17-18 वें किलोमीटर के मध्य स्थित है।
आई.आई.टी.आर. विषविज्ञान के आला क्षेत्रों में शोध संचालित करती है। इसमें औद्योगिक और पर्यावरण संबंधी रसायनों के मानव स्वास्थ्य और पारिस्थितिकी तंत्र पर प्रभाव एवं वायु,जल एवं मिट्टी में प्रदूषकों के पर्यावरण संबंधी अनुवीक्षण सम्मिलित हैं। आगे जाने..

समाचार

  • जूनियर स्टेनोग्राफर और जूनियर सचिवालय सहायक (जी) की सीएसआईआर-आईआईटीआर में भर्ती के लिए विज्ञापन संख्या IITR/1-2019/ADMIN यहां क्लिक करे
  • सीएसआईआर-आईआईटीआर, लखनऊ द्वारा विकसित "पेयजल कीटाणुशोधन प्रणाली", व्यापार नाम "ओनीर टीएम", जो पानी के निरंतर उपचार के लिए उपयोगी है, को प्रेस सूचना ब्यूरो, भारत सरकार द्वारा प्रकाशित "सीएसआईआर -2018 की उपलब्धियां: वर्ष की समीक्षा" लेख में शामिल किया गया है। यहां क्लिक करे
  • सीएसआईआर-आईआईटीआर ने माननीय डॉ॰ हर्षवर्धन, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री, भारत सरकार और डॉ शेखर मांडे, महानिदेशक, सीएसआईआर एवं सचिव डीएसआईआर की उपस्थिति में दिल्ली में एक कंपनी को पीने के पानी के कीटाणुशोधन के लिए प्रौद्योगिकी हस्तांतरित की। Download
  • सीएसआईआर-आईआईटीआर में इंटर्नशिप / प्रोजेक्ट का काम करने के लिए छात्रों के लिए अवसर Download
  • सीएसआईआर-आईआईटीआर ने सेन्टर फॉर इनोवेशन एण्ड ट्रांसलेशनल रिसर्च (सी.आई.टी.ए.आर.) स्थापित किया है, जिससे सामाजिक और औद्योगिक अनुसंधान, स्टार्टअप को सक्षम बनाने और अन्वेषकों से सहयोग को बढ़ावा देने हेतु प्रभावी सहायता प्रदान करना है, ताकि शीघ्र तकनीकी समाधान प्राप्त हो सके Download

सेवाएं

कार्यक्रम

जी.एल.पी. अनुरूप सुविधा

वीडियो गैलरी

  • img
  • img
  • img
  • img
  • img
  • img
  • img
  • img
  • img
  • img
थीम विकल्प चुनें
फॉन्ट साइज़ प्रीडिफ़ाइंड स्किन कलर
खोज सामग्री